देवेगौड़ा परिवार के 8वें शख्स रेवन्ना ने सियासत में रखा कदम, चुनाव जीता तो देश में बनेगा ये रिकॉर्ड


देवेगौड़ा परिवार के 8वें शख्स रेवन्ना ने सियासत में रखा कदम, चुनाव जीता तो देश में बनेगा ये रिकॉर्ड

बेंगलुरु:

कर्नाटक की राजनीति (Karnataka Politics) में पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा (Former Prime Minister HD Deve Gowda) का परिवार काफी दखल रखता है. देवेगौड़ा की पार्टी जेडीएस का वोक्कालिग्गा समुदाय में काफी जनाधार रखती है. अब देवेगौड़ा परिवार के आठवें सदस्य ने राजनीति में कदम रखा है. जेडीएस ने कर्नाटक विधानपरिषद चुनाव के लिए उम्मीदवारों का ऐलान किया है, उसमें देवेगौड़ा के पौत्र सूरज रेवन्ना (Suraj Revanna) को भी प्रत्याशी बनाया गया है.  पूर्व पीएम देवेगौड़ा के पौत्र सूरज रेवन्ना को 10 दिसंबर को होने वाले विधान परिषद चुनाव के लिए घोषित जेडीएस के उम्मीदवारों में जगह दी गई है.

यह भी पढ़ें

देवेगौड़ा के बड़े बेटे एच डी रेवन्ना के बेटे डॉक्टर सूरज हासन स्थानीय प्राधिकरण सीट से जेडीएस के प्रत्याशी हैं. यह सीट उनके परिवार का गढ़ माना जाता है. रेवन्ना गौड़ा परिवार के 8वें सदस्य हैं जो सियासत में उतरे हैं. सूरज के पिता एच डी रेवन्ना पूर्व मंत्री और होलेनरसीपुरा से विधायक हैं. उनकी मां भवानी हासन जिला पंचायत की सदस्य थीं और भाई प्रज्वल हासन लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं. जेडीएस प्रमुख देवगौड़ा कर्नाटक से राज्यसभा के सांसद हैं. उनके दूसरे बेटे एवं पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी चन्नापटना से विधायक हैं.

कुमारस्वामी की पत्नी अनीता रामनगर क्षेत्र से विधायक हैं और उनके बेटे और जेडीएस युवा इकाई के अध्यक्ष निखिल ने मांड्या से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे.अगर हासन से सूरज यह चुनाव जीत जाते हैं, तो सभी चार प्रमुख सांसदों लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा और विधान परिषद में देवगौड़ा परिवार के सदस्यों की भागीदारी होगी.

कर्नाटक विधान परिषद के लिए सदस्यों की सेवानिवृत्ति के कारण 20 स्थानीय प्राधिकरण निर्वाचन क्षेत्रों में 25 सीट पर 10 दिसंबर को द्विवार्षिक चुनाव होगा.

जेडीएस ने चुनाव के लिए केवल 7 उम्मीदवार उतारे हैं. सूरज के अलावा अन्य उम्मीदवारों में एन अप्पाजीगौड़ा (मांड्या), अनिल कुमार आर (तुमकुरु), सी एन मंजेगौड़ा (मैसूरु), वक्कलेरी रामू (कोलार), एच एम रमेश गौड़ा (बेंगलुरु ग्रामीण), एच यू इसाक खान (कोडागु) शामिल हैं. प्रत्याशियों की सूची जारी होने के बाद एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि पार्टी ने केवल 7 चुनिंदा सीटों पर ही उम्मीदवार उतारे हैं. पार्टी कम वक्त में सभी सीटों पर ध्यान नहीं दे सकती है. विधान परिषद के 25 सदस्यों का कार्यकाल 5 जनवरी 2022 को पूरा होने जा रहा है.

बीजेपी और कांग्रेस पहले ही अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर चुकी हैं. नामांकन पत्र दाखिल करने की मंगलवार को आखिरी तारीख है. नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 26 नवंबर है और मतों की गिनती 14 दिसंबर को होगी.



Source link

Leave a Comment