My RevolutionPARTs

योगी सरकार में लोगों को सम्‍मान नहीं मिला,रोजगार नहीं मिला सिर्फ अपमान मिला : अखिलेश यादव


मुजफ्फरनगर :

Uttar Pradesh: समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party)के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने यूपी में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में बदलाव की उम्‍मीद जताई है. उन्‍होंने कहा कि हमारी यानी SP की सरकार बनी तो उम्मीद से ज़्यादा बिलों में राहत देंगे. हम सिंचाई भी मुफ़्त करेंगे.बातचीत के दौरान अखिलेश ने आगामी विधानसभा चुनाव (UP Assembly polls 2022) के अलावा कृषि कानूनों तथा हाल ही में पुलिस हिरासत में युवक की मौत के मामले में विचार व्‍यक्‍त किए. मुज़फ़्फ़रनगर में रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा, ‘ वर्ष 2022 में बदलाव होगा. मुज़फ़्फ़रनगर के लोगों ने कभी समाजवादी पार्टी को निराश नहीं किया है. ओपी राजभर जब से हमारे पास आए हैं तब से पूर्वांचल ने बीजेपी के दरवाज़े बंद कर दिए हैं.हम यही कह रहे हैं कि यहां कि जनता पश्चिमी यूपी में बीजेपी के दरवाज़े बंद करें. उन्‍होंने कहा कि इस सरकार में सम्मान नहीं मिला , रोज़गार नहीं मिला .. सिर्फ़ अपमान मिला है.

यह भी पढ़ें

‘देश का बंटवारा ना होता, अगर जिन्ना को…’ : अखिलेश यादव की सहयोगी पार्टी के नेता

सपा प्रमुख ने कहा कि हम कश्यप समाज की तमाम समस्याओं का निदान करेंगे.अभी बहुत सारे गठबंधन होने जाने हो रहे हैं. समाजवादी पार्टी लगातार लोगों को जोड़ने का काम कर रही हैलगातार सपा सबको जोड़ने का काम कर रही है. कश्यप समाज ने पूरी ईमानदारी से बीजेपी को वोट दिया था लेकिन बीजेपी ने सरकार बन जाने के बाद कश्यप समाज को धोखा दिया. उन्‍होंने कहा, ‘अंबेडकर साहब ने संविधान में जो अधिकार दिया था, वो भी ये सरकार छीन लेगी.’ अखिलेश ने पूछा, ‘किसान समाज के भाईयों ये बताइए कि आपकी आय बढ़ी है या घट गई ? इन्होंने कहा था कि आय दोगुनी होगी पर महंगाई बढ़ गई है.आप बताओ 2014-2017 में डीज़ल पेट्रोल की क़ीमत कितनी थी. अब पेट्रोल 100 के पार पहुंच गया है. इन्होंने कहा था कि हवाई चप्पल पहनने वाले हवाई जहाज़ में चलेंगे पर अब हवाई चप्पल वाले मोटरसाइकिल भी नहीं चला पा रहा है.’ सपा नेता ने कहा कि तीनों कृषि क़ानूनों को रद्द करना चाहिए था.हम इन क़ानूनों का तब तक विरोध करेंगे जब तक ये रद्द नहीं कर देते.इन्होंने किसानों के सामने संकट पैदा कर दिया है.

CM योगी ने पश्चिमी UP में की पहली चुनावी सभा, छाया रहा ‘मुजफ्फरनगर दंगा’

उन्‍होंने कहा कि यहां मुख्यमंत्री आए थे. अब तक हम ये समझ रहे थे कि बाबा मुख्यमंत्री इसलिए लैपटॉप नहीं बांट रहे क्योंकि उन्हें लैपटॉप नहीं चलाना आतापर योगी जी अपना घोषणापत्र भी नहीं पढ़ते.इन्होंने कहा था घोषणापत्र में कि 70 लाख रोज़गार देंगे.आप बताओ कि क्या रोज़गार मिला. मुख्यमंत्रीजी कह रहे थे कि यहां से पलायन हो रहा था. हम कह रहे हैं कि योगी जी उत्तराखंड ये पलायन न करते तो हमारे पांच साल ख़राब न होते.कोरोना काल में इन्होंने न दवाई दी न ऑक्सीजन दी.हमारे ग़रीबों की जान गई. कोरोना में जनता को अनाथ छोड़ दिया गया.सरकार ने पैदल जा रहे मज़दूरों तकके लिए इंतज़ाम नहीं किया. यूपी में पुलिस हिरासत में हुई मौत को लेकर अखिलेश यादव ने कहा, ‘ये दावा करते हैं कि क़ानून व्यवस्था अच्छी की है. क्या आपने देखा है कि पुलिस लोगों की हत्या कर रही है? कानपुर के एक व्यापारी की गोरखपुर में पुलिस ने पीट कर मार डाला. पुलिस की कस्टडी में पुलिस ने नौजवान की जान ले ली.सबसे ज़्यादा custodial death यूपी में हो रही है. आप ‘ठोको’ नीति चला रहे हैं. पुलिस आसानी से काम करे इसके लिए समाजवादी काम करेगा.

अखिलेश यादव ने योगी पर कसा तंज, कहा – ‘लैपटॉप लेकर आओ, बुलडोजर लेकर नहीं’

सपा प्रमुख ने कहा कि योगी जी का विकास का काम यह करते हैं कि सारे नाम बदल देते हैं.ये सिर्फ़ नाम बदलने का काम कर रहे हैं .ये पिछड़ी जातियों की गिनती नहीं करा सकते वो पिछड़ी जातियों के लिए काम क्या करेंगे.’ उन्‍होंने कहा कि  ये सरकार बेंचने वाली है.नोटबंदी करके कहा कि भ्रष्टाचार ख़त्म होगा आतंकवाद ख़त्म होगा पर भ्रष्टाचार बढ़ गया है. इस सरकार में सम्मान नहीं मिला , रोज़गार नहीं मिला .. सिर्फ़ अपमान मिला है गन्ने की क़ीमत बढ़ाने की बात करते हुए अखिलेश बोले कि इन्होंने कहा कि गन्ने के कीमत 340 कर दी हैपर पर्ची में ज़ीरो लिखा .. क्या किसी को मिला है 340 ?ये मुख्यमंत्री जाने वाले हैं, आपसे छीन के ले जाएंगे. हम आपको गन्ने का दाम देंगे. किसानों को DAP नहीं मिल रही है.बीज महंगे हो गए .. खाने पीने का सामान महंगा हो गया.किसानों को सबसे ज़्यादा अपमानित करने का काम बीजेपी ने किया.ये नफ़रत पैदा करने वाले लोग हैं. ये बांटने वाले लोग हैं. ये मोहब्बत की बात नहीं करते.समाजवादी पार्टी किसी एक परिवार की पार्टी नहीं है. ये हम पर परिवारवाद का आरोप लगाते हैं.हमारा परिवार एक ही है हम सब समाजवादी हैं. उन्‍होंने कहा कि  हमारे मुख्यमंत्री जी को ख़ानदान बहुत याद आता है. बताओ ख़ानदान किसको याद आता है? जो भागने वाला होता है उससे परिवार याद आता है. ये जाने वाले मुख्यमंत्री है. सबकी मांग है कि पिछड़ी जातियों की जनगणना हो. हम कह रहे हैं कि समाजवादी पार्टी को मौक़ा मिला तो सबकी गिनती होगी और सम्मान मिलेगा. यूपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘बिजली के बिल कितना बढ़ा दिया, बिजली का बिल करंट दे रहा. हमारी सरकार बनी तो उम्मीद से ज़्यादा बिलों में राहत देंगे. हम सिंचाई भी मुफ़्त करेंगे.’

UP चुनाव में अब परफ्यूम पॉलिटिक्स! अखिलेश यादव ने लॉन्च किया ‘समाजवादी इत्र’



Source link

Subscribe to Our YouTube Channel

Follow Us

Related Posts

My Revolution parts

Subscribe to our YouTube channel