My RevolutionPARTs

गोतस्करों के पैर में गोली मारने वाले SHO ने तबादले को लेकर SSP पर उठाए सवाल, रोजनामचा में बयां किया दर्द


गोतस्करों के पैर में गोली मारने वाले SHO ने तबादले को लेकर SSP पर उठाए सवाल, रोजनामचा में बयां किया दर्द

गोतस्करों के पैर में गोली मारने वाले लोनी एसएचओ चर्चा में रहे हैं

नई दिल्ली:

लोनी में कथित तौर पर 7 गोतस्करों (cow smugglers) के पैर में गोली मार कर गिरफ्तार करने के मामले में जांच करवाई जाएगी. लोनी बार्डर थाने के SHO और इसे अंजाम देने  का पहले ही तबादला हो चुका है. तबादले से नाराज SHO ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं. इससे पहले लोनी के बीजेपी विधायक (BJP MLA) एसएचओ को हटाए जाने से भड़के थे. दरअसल, मुठभेड़ के दौरान कथित सभी 7 गो तस्करों के एक ही जगह पर गोली मारने वाले थाने के SHO राजेंद्र त्यागी का दो दिन बाद ही तबादला कर दिया गया था.इससे नाराज SHO राजेंद्र त्यागी ने अपने रोजनामचा में अपने दर्द बयां किया.

यह भी पढ़ें

लोनी में बुजुर्ग की पिटाई करने और दाढ़ी काटने के मामले में मुख्य आरोपी को मिली जमानत

उन्होंने लिखा, मुझे लगता है कि गोतस्करों के गिरफ्तार करने के कारण ही मेरा तबादला हुआ है. तबादला होने से मेरा मनोबल टूट गया है.फिलहाल मैं नौकरी करने की स्थिति में नहीं हूं.मुझे कुछ दिन छुट्टी चाहिए. SHO राजेंद्र त्यागी ही नहीं लोनी के हिंदूवादी संगठन और खुद बीजेपी के विधायक नंदकिशोर गुर्जर भी गाजियाबाद SSP से नाराज हैं. उन्होंने एक पत्र लिखकर कहा कि SHO राजेंद्र त्यागी का तबादला करके गाजियाबाद पुलिस गौ तस्करों को संरक्षण दे रही है.

छेड़खानी पर पड़ोसी ने डांटा तो छत पर रख दिया IED, आतंकी बता पुलिस को दी सूचना

दरअसल गुरुवार को लोनी के इसी गोदाम में पुलिस के साथ कथित गौ तस्करों की मुठभेड़ हुई जिसमें 17 राउंड गोली चलने और कथित गौ तस्करों को घुटने के नीचे गोली मारने पर सवाल उठने लगे. इस मुठभेड़ पर जब हमने SHO राजेंद्र त्यागी से बात की तो उनका कहना था कि वो शार्प शूटर रहे हैं. इसलिए उन्होंने घुटने के नीचे गोली मारी है.वहीं गाजियाबाद पुलिस ने विधायक के आरोप को निराधार बताया और मुठभेड़ की जांच लोनी CO से कराने का फैसला किया है.

SSP गाजियाबाद पवन कुमार ने कहा कि इस प्रकरण की रिपोर्ट सीओ लोनी से मांगी गई है वो मौके पर जाकर जांच करेंगे कि कैसे मुठभेड़ हुई है, साथ ही SHO की GD इंट्री कैसे सोशल मीडिया पर लीक हुई उसकी भी जांच होगी. 

गोतस्करी में पकड़े गए सात में से एक आरोपी नाबालिग है और उसके परिजनोंं का कहना है कि वो गोदाम में ड्रम साफ करने का काम करते थे. लेकिन इस मुठभेड़ में सभी को खास जगह पर गोली लगना और गोदाम के मालिक का सामने न आना कई सवाल खड़े करता है. 



Source link

Subscribe to Our YouTube Channel

Follow Us

Related Posts

My Revolution parts

Subscribe to our YouTube channel