साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize in Literature) 2021 की घोषणा की गयी


तंजानिया के उपन्यासकार अब्दुलरजाक गुरनाह (Abdulrazak Gurnah) को साहित्य का नोबेल पुरस्कार 2021 प्रदान किया गया।

मुख्य बिंदु 

अब्दुलरजाक गुरनाह को “उपनिवेशवाद के प्रभाव” और संस्कृतियों और महाद्वीपों के बीच की खाई में शरणार्थियों के भाग्य के करुणामय विवरण के लिए पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

अब्दुलरजाक गुरनाह कौन हैं?

अब्दुलरजाक गुरनाह का जन्म वर्ष 1948 में हुआ था। वह हिंद महासागर में ज़ांज़ीबार द्वीप पर पले-बढ़े। बाद में वह 1960 के दशक में एक शरणार्थी के रूप में इंग्लैंड पहुंचे। उन्होंने केंट विश्वविद्यालय, कैंटरबरी में अंग्रेजी और उत्तर औपनिवेशिक साहित्य के प्रोफेसर के रूप में काम किया। उनके 10 उपन्यास और कई लघु कथाएँ प्रकाशित हो चुकी हैं।

उनका काम शरणार्थी के व्यवधान के विषय के इर्द-गिर्द घूमता है। भले ही स्वाहिली उनकी पहली भाषा थी, फिर भी उन्होंने अंग्रेजी को अपना साहित्यिक उपकरण बनाया।

2020 साहित्य का नोबेल पुरस्कार

2020 साहित्य का नोबेल पुरस्कार अमेरिकी कवि लुईस ग्लक को दिया गया था, जो येल विश्वविद्यालय में अंग्रेजी के प्रोफेसर हैं। उन्हें उनकी अचूक काव्य आवाज के लिए सम्मानित किया गया

Categories: अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

Tags:2020 साहित्य का नोबेल पुरस्कार , Abdulrazak Gurnah , Current Affairs in Hindi , Hindi Current Affairs , Hindi News , Nobel Prize in Literature , Nobel Prize in Literature 2021 , अब्दुलरजाक गुरनाह , अब्दुलराजाक गुरनाह



Source link

Subscribe to Our YouTube Channel

Follow Us

My Revolution parts

Subscribe to our YouTube channel