My RevolutionPARTs

श्रीलंकाई आर्थिक संकट (Sri Lankan Economic Crisis) : मुख्य बिंदु


बढ़ती खाद्य कीमतों, मुद्रा के अवमूल्यन और घटते विदेशी मुद्रा भंडार के कारण श्रीलंका सरकार ने अगस्त 2021 के अंतिम सप्ताह में आर्थिक आपातकाल की घोषणा की।

मुख्य  बिंदु 

श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) ने आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति को नियंत्रित कर इस संकट से निपटने के लिए सेना बुलाई।

श्रीलंका में आर्थिक संकट क्यों उत्पन्न हुआ?

श्रीलंका में मौजूदा आर्थिक संकट के लिए जिम्मेदार कारकों में शामिल हैं:

  • श्रीलंका में पर्यटन उद्योग को कोविड-19 महामारी के कारण काफी नुकसान हुआ है। यह अपने सकल घरेलू उत्पाद के 10% से अधिक का प्रतिनिधित्व करता है और भारी विदेशी मुद्रा लाता है।
  • इस प्रकार, विदेशी मुद्रा भंडार जुलाई 2021 में घटकर 2.8 बिलियन डॉलर हो गया, जो 2019 में 7.5 बिलियन डॉलर से अधिक था।
  • जैसे-जैसे विदेशी मुद्रा की आपूर्ति कम हो रही है, श्रीलंकाई लोगों को विदेशी मुद्रा खरीदने के लिए जितना पैसा खर्च करना पड़ रहा था, वह बढ़ गया है। श्रीलंकाई रुपये के मूल्य में 8% की गिरावट आई है।
  • चूंकि श्रीलंका बुनियादी खाद्य आपूर्ति को पूरा करने के लिए आयात पर निर्भर करता है, वहां खाद्य पदार्थों की कीमत रुपये में गिरावट के अनुरूप बढ़ गई है।

सरकार संकट से कैसे निपट रही है?

श्रीलंकाई सरकार ने आवश्यक आपूर्ति की जमाखोरी करके खाद्य कीमतों में वृद्धि के लिए सट्टेबाजों (speculators) को दोषी ठहराया। सरकार ने सार्वजनिक सुरक्षा अध्यादेश के तहत “आर्थिक आपातकाल” घोषित किया। आपात स्थिति में, सेना को व्यापारियों से खाद्य आपूर्ति को जब्त करने और उपभोक्ताओं को उचित मूल्य पर आपूर्ति करने का काम सौंपा गया है। सरकार ने सेना को यह सुनिश्चित करने की शक्ति भी दी है कि विदेशी मुद्रा भंडार का उपयोग केवल आवश्यक सामान खरीदने के लिए किया जाए।

 

Categories: अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

Tags:Current Affairs in Hindi , Emergency in Srilanka , Gotabaya Rajapaksa , Hindi News , Sri Lankan Economic Crisis , UPSC Current Affairs in Hindi , गोतबाया राजपक्षे , श्रीलंकाई आर्थिक संकट , हिंदी करेंट अफेयर्स



Source link

Subscribe to Our YouTube Channel

Follow Us

Related Posts

My Revolution parts

Subscribe to our YouTube channel