तेलंगाना करेगा मोबाइल बेस्ड ई-वोटिंग प्रणाली का परीक्षण


तेलंगाना राज्य चुनाव आयोग ने “मोबाइल बेस्ड ई-वोटिंग सिस्टम” को ड्राई रन करने की योजना बनाई है।

मुख्य बिंदु 

  • इस प्रणाली का विकास भारत में कोविड-19 महामारी के बीच चुनाव कराने की आवश्यकता से निर्देशित है।
  • यह प्रणाली, सफल होने पर, घर से स्मार्टफोन का उपयोग करके वोट करने की सुविधा प्रदान करेगी।
  • ड्राइ रन तेलंगाना के खम्मम जिले में 20 अक्टूबर को होगा।
  • यह भारत की पहली स्मार्टफोन आधारित ई-वोटिंग प्रक्रिया होगी।

पंजीकरण प्रक्रिया

मतदाता 8 से 18 अक्टूबर के बीच स्मार्टफोन एप्लिकेशन का उपयोग करके ड्राई रन के लिए अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग

मोबाइल आधारित ई-वोटिंग प्रणाली वैध मतदाता के तीन-कारक प्रमाणीकरण के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करेगी। सिस्टम मतदाता के नाम को आधार से मिलाएगा, व्यक्तिगत जीवंतता का पता लगाएगा और लगभग 20 साल पुराने रिकॉर्ड वाले EPIC डेटाबेस का उपयोग करके छवि का मिलान करेगा।

ब्लॉकचेन (डिस्ट्रिब्यूटेड लेजर) तकनीक

इस तकनीक का उपयोग गैर-पहचान और एन्क्रिप्टेड वोटों को अपरिवर्तनीय रिकॉर्ड के रूप में बनाए रखने के लिए सुरक्षित करने के लिए किया गया है।

TSEC eVote एप्प

यह स्मार्टफोन एप्लिकेशन अंग्रेजी और तेलुगु दोनों भाषाओं का समर्थन करते हुए एक न्यूनतम डिजाइन दृष्टिकोण का अनुसरण करता है। इसमें ट्यूटोरियल वीडियो के लिए एक विस्तृत सहायता अनुभाग और नागरिकों की सहायता के लिए एक हेल्पलाइन नंबर शामिल है। यह एक सुरक्षित मोबाइल एप्लिकेशन है जो किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ को रोकेगा। इस सिस्टम का दुरुपयोग नहीं किया जा सकता क्योंकि यह एक विशिष्ट नागरिक पंजीकरण प्रक्रिया के लिए एक डिवाइस आईडी और फोन नंबर को बांधता है। वोटिंग के दौरान सिर्फ उसी डिवाइस का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Categories: राज्यों के करेंट अफेयर्स

Tags:Current Affairs in Hindi , Hindi Current Affairs , Online Voting in India , TSEC eVote , ऑनलाइन मतदान , करंट अफेयर्स , तेलंगाना , वोटिंग , हिंदी समाचार



Source link

Subscribe to Our YouTube Channel

Follow Us

My Revolution parts

Subscribe to our YouTube channel