2020 SO क्या है?

2020 SO एक नियर अर्थ ऑब्जेक्ट (NEO) है, इसकी पहचान सेंटूर अपर स्टेज रॉकेट बूस्टर के रूप में की गई है, जिसने 1966 में नासा के सर्वेयर स्पेसक्राफ्ट को चंद्रमा की ओर ले जाने में मदद की थी।

‘NEO’ शब्द का प्रयोग किसी कक्षा के साथ किसी ऑब्जेक्ट के लिए किया जाता है, जो इसे पृथ्वी के साथ निकटता में लाता है। जब ऐसे NEO काफी बड़े होते हैं और उनकी एक कक्षा होती है जो पृथ्वी की कक्षा को पार करती है, तो इसे ‘संभावित खतरनाक क्षुद्रग्रह’ कहा जाता है।

2020 SO क्या है?

इस ऑब्जेक्ट का एक कृत्रिम वस्तु होने का संदेह था क्योंकि इसकी गति पृथ्वी की तुलना में कम है। 2020 SO सर्वेयर अंतरिक्ष यान का एक हिस्सा है, इसकी पुष्टि स्पेक्ट्रल एनालिसिस से की गयी है।

सर्वेयर 2

यह अमेरिकन सर्वेयर कार्यक्रम के तहत दूसरा चंद्र लैंडर था, इसमें क्रू नहीं था। यह 1966 में लांचकिया गया था। हालाँकि, यह मिशन विफल हो गया था क्योंकि एक थ्रस्टर ने ठीक से काम नही किया। इससे अंतरिक्ष यान का संतुलन बिगड़ गया और बाद में संपर्क टूट गया।

Centaur रॉकेट का उपयोग इस अंतरिक्ष यान को लॉन्च करने के लिए किया गया था, यह राकेट अपने मूल प्रक्षेपवक्र में चलता रहा। उस समय बूस्टर की स्थिति के बारे में कोई जानकारी नही थी। यह खोया हुआ Centaur ही 2020 SO है।

इसी प्रकार के एक बूस्टर ने 2002 में पृथ्वी की कक्षा में फिर से प्रवेश किया था। यह अपोलो 12 का बूस्टर था।

सर्वेयर 2 को पृथ्वी पर फोटोग्राफिक डेटा भेजने करने के लिए लॉन्च किया गया था। यह चंद्र सतह की रडार परावर्तकता को वापस भेजने के लिए निर्मित किया गया था। इसके अलावा, नासा ने इस अंतरिक्ष यान में तापमान के आधार पर चंद्र सतह के तापमान का पता लगाने की योजना बनाई थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *